2
1
previous arrow
next arrow
कोरोना वायरसदिल्लीदुनियादेशस्वास्थ्य

खतरा हार्ट अटैक का : कोरोना को हरा चुके लोगों पर अब मंडरा रहा

विशेषज्ञों से जानें

इससे कैसे बचा जाए

  • कोरोना संक्रमण को हरा चुके लोग अब हार्ट अटैक की जद में आ रहे हैं। अगर आपका कोई अपना अभी-अभी कोरोना को मात देकर लौटा है तो बेहद जरूरी है कि आप विशेष ख्याल रखें ताकि हार्ट अटैक का जोखिम घट सके। हाल में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के किए एक शोध से पता लगा है कि ठीक होने के एक महीने के अंदर ही 50% मरीजों को हृदयाघात का सामना करना पड़ रहा है। आइए जानते हैं इसके बचाव और लक्षण।

क्या हैं कारण

  • विशेषज्ञों का मानना है कि यदि कोरोना संक्रमित हो चुके व्यक्ति के हृदय पर भी असर पड़ा है तो उसको हृदयाघात की आशंका रहती है। कई बार रिकवर मरीजों में रक्तचाप की समस्या उभरती है जिसमें ब्लड प्रेशर के अचानक बढ़ने या घटने जैसी दिक्कतें हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक कोविड-19 का संक्रमण शरीर में इंफ्लेमेशन को ट्रिगर करता है, जिससे दिल की मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं। साथ ही धड़कन की गति भी प्रभावित होती है। इससे खून का थक्का जमने आदि की समस्या हो जाती है। उन्होंने कहा कि दरअसल कोरोना से हृदय की मांसपेशियां कमजोर पड़ जाती हैं। हार्ट में इंफ्लेमेशन बढ़ने से ऐसा होता है। इससे हार्ट फेलियर, ब्लड प्रेशर की दिक्कत और धड़कन की गति तेज या धीमी होने लगती है। इसके अलावा फेफड़ों में खून के थक्के जमने की वजह से हार्ट पर बुरा असर पड़ता है। युवाओं में ये परेशानी ज्यादा देखने को मिल रही है।

जांच है बहुत जरूरी

  • विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड-19 के बाद अगर आपकी छाती में दर्द की शिकायत है या फिर आपको पहले से कोई हृदय रोग है तो आपको इसकी इमेजिंग जरूर करवानी चाहिए। इससे पता चल जाएगा कि वायरस ने हार्ट की मांसपेशियों को कितना नुकसान पहुंचाया है। हल्के लक्षण वाले मरीज भी ये करवा सकते हैं।

क्या हैं इसके लक्षण

  • इसमें मरीज को सांस लेनें में तकलीफ होती है। दिल की धड़कन तेज और अनियमित हो जाती है। बहुत ज्यादा कमजोरी महसूस होने लगती है। इसके साथ ही पंजे, एड़ी या पैर में सूजन भी आ जाती है। इसके अलावा लगातार खांसी, भूख न लगना और बार-बार पेशाब आना भी इसके मुख्य लक्षण हैं। अगर किसी को ये सारे लक्षण महसूस हो रहे हैं तो उसे तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

इससे बचाव एवं उपाय

प्रसिद्ध कार्डियोलॉजिस्ट हेलेन ग्लासबर्ग ने कोविड-19 के दौरान हृदय को स्वस्थ्य रखने के कुछ तरीके सुझाएं हैं जो इस प्रकार हैं।

  • सामाजिक दूरी बनाए रखें
  • मास्क जरूर लगाएं 
  • स्वस्थ जीवन शैली की आदतें बनाए रखें
  • नियमित दिनचर्या का पालन करें 
  • टेलीमेडिसिन का लाभ उठाएं
  • अपनी दवाएं लेना जारी रखें
  • योग, प्राणायाम और व्यायाम करें
  • सतर्क और चौकन्ने रहें
  • समय समय पर जांच कराते रहें
  • मिर्च या मसालों से रहित सादा भोजन करें
  • तरल पदार्थों का अधिक सेवन करें
  • सिगरेट और शराब से दूर रहें
  • नींद पर्याप्त लें
अगर आपको यह पोस्ट जानकारी पूर्ण उपयोगी लगे तो कृपया इसे शेयर जरूर करें।

ब्लैक फंगस : छत्तीसगढ़ में पहली मौत, CMHO ने सभी निजी अस्पतालों को किया अलर्ट

एक ख़ुशी ऐसी भी – क्या करेगा कोरोना

हेल्थ एंड फिटनेस : नारियल का दूध – सेहत के लिए अत्यंत लाभकारी…जानिए इसके फायदे

Big Breaking : प्रदेश में आई एक और नई बीमारी – पढ़े पूरी खबर

BIG CG ब्रेकिंग : छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस की एंट्री, एम्स में भर्ती कराये गये 15 मरीज

WHO ने जारी किया अलर्ट : कोरोना के नए वेरिएंट ने 44 देशों में बढ़ाया टेंशन, जानें क्या है वजह

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button