2
1
previous arrow
next arrow
जॉब

राज्य में पहली बार 595 प्रोफेसरों की सीधी भर्ती

  • उच्च शिक्षा विभाग में सहायक प्राध्यापक के पदों में जाने के योग्यताधारी अभ्यर्थियों के पास सीधी भर्ती के माध्यम से जाने का सुनहरा अवसर है। राज्य निर्माण के बाद पहली बार छत्तीसगढ़ में प्रोफेसरों, प्राध्यापकों के 595 पदों पर सीधी भर्ती होगी। उच्च शिक्षा विभाग से छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग CGPSC को इसके लिए प्रस्ताव मिलें है।

  • प्रोफेसरों के पदों में सीधी भर्ती की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गयी है।  इन पदों के लिए पुरे देश से आवेदन आने की उम्मीद है। इसके अलावा प्रथम एवं द्वितीय श्रेणी के करीब 400 पदों पर अफसरों की भर्ती होने वाली है। इसके लिए छहत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के पास कई विभागों के प्रस्ताव आ चुके है। इस तरह से प्रदेश में अगले 6 माह में लगभग 1000 पदों पर भर्ती होगी।

  • उच्च  शिक्षा – प्राध्यापक – 595 पद
  • वन विभाग – संयुक्त वन सेवा भर्ती – 178 पद
  • गृह विभाग – लोक अभियोजन अधिकारी – 70 पद
  • उच्च शिक्षा – कुल सचिव एवं कुल उपसचिव – 12 पद
  • गृह विभाग – वैज्ञानिक अधिकारी – 17 पद
  • श्रम विभाग – सहायक संचालक – 05 पद
  • ग्रामोद्योग विभाग – सहायक संचालक – 01 पद
  • तकनिकी शिक्षा – प्राचार्य – 01 पद
  • अन्य विभाग – राज्य सिविल सेवा 2020 –  100 से अधिक पद

  • यूजीसी से नहीं मिल पाती अनुदान राशि – प्रोफेसरों के पद रिक्त होने के वजह से विश्वविद्यालयों और कालेजों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, यूजीसी से अनुदान भी नहीं मिल पा रहा है। साथ ही नैक, राष्ट्रिय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद् की ग्रेडिंग कराने में भी परेशानी होती है।

  • छत्तीसगढ़ राज्य में 8 निजी एवं 8 सरकारी विश्वविद्यालय है। इनमे से अभी तक 6 विश्वविद्यालयों की ग्रेडिंग हो चुकी है। इसी तरह 574 कालेजों में से 126 कालेजों की ही नैक ग्रेडिंग हुई है। पिछले 20 सालों से प्रोफेसरों के स्वीकृत रिक्त पदों पर सीधी भर्ती नहीं हो पायी है।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा नहीं रहे

हम वही होते है।

“अवध के नवाब की राजवंशीय क्रमोन्नति” विषय पर एक राष्ट्रीय संगोष्ठी (ऑनलाइन) आयोजित

बिलासपुर की अनुकृति का चयन मिस इंडिया ग्लोबल में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button