2
1
previous arrow
next arrow
क्राइमछत्तीसगढ़दुर्ग

फर्जी कॉल और फिर लाखों की ठगी, पुलिस ने ग्राहक व किराएदार बनकर दिल्ली से 4 को पकड़ा

दुर्ग। फर्जी काल सेंटर चला कर इन्श्योरेंस परिपक्वता राशि भुगतान के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले 4 आरोपियो को दुर्ग पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों ने पेंशन,परिपक्वता राशि का झांसा देकर देश के क़ई राज्यो के लोगों से करोड़ों की ठगी की थी। आरोपियों के टारगेट में मुख्यतः बुजुर्ग व्यक्ति रहा करते थे। एंटी क्राइम व दुर्ग पुलिस की तीन टीमो ने रेड कर कार्यवाही को अंजाम दिया है।

दरअसल, सूर्या नगर सिकोला भाठा में रहने वाले प्रार्थी प्रभाकर राव दानिकर ने 16 जुलाई को मोहन नगर थाने में शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया था कि अज्ञात व्यक्तिओ द्वारा अलग अलग नम्बरो से फोन कर इंश्योरेंस भुगतान का लालच दिखाया व टैक्स, जीएसटी व प्रोसेसिंग फीस के नाम से विभिन्न खातों में अलग अलग दिनांक को कुल 16 लाख 15 हजार लेकर धोखाधडी कर ली। शिकायत पर धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध कर मामले की जांच शुरू की गई।

जांच में सायबर टीम ने 16 लाख रुपये के ट्रांजेक्शन की जानकारी सबंधित बैंकों से जुटाई गयी, जिसमे जानकारी मिली कि प्रार्थी प्रभाकर राव द्वारा ट्रांसफर की गई रकम दिल्ली के अलग अलग स्थानों से निकासी की गई हैं। इसके अलावा फोन किये गए नम्बरो का तकनीकी विश्लेषण कर आरोपियो की पतासाजी व गिरफ्तारी हेतु टीम उत्तरप्रदेश व दिल्ली भेजी गई। दिल्ली गयी हुई टीम को जानकारी मिली कि एक संदेही चाय दुकान चलाता हैं। पुलिस टीम उक्त चाय दुकान पहुँची और खुद को मोहल्ले में ही आये नए किरायेदार के रूप में खुद का परिचय दिया। पुलिस टीम द्वारा संदेही के चाय दुकान मर लगातार जाकर उनसे अच्छे सम्बंध स्थापित कर दोस्ती करते हुए अन्य आरोपियों के सम्बन्ध में चाय वाले को विश्वास में लेकर धीरे धीरे जानकारी जुटाई। जिसमे दिल्ली के किलोकारी में किराया लेने के नाम पे आरोपियो के सम्बंध में पुख्ता जानकारी प्राप्त हुई। जिसके बाद बहरूपिया बन कर 3 अलग अलग टीमें बना कर रेड कार्यवाही को अंजाम देते हुए 4 आरोपियो को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियो के टारगेट में ज्यादातर बुजुर्ग व्यक्ति ही रहते थे।

रिटायर्ड कर्मचारियों को आरोपीगण सेंट्रल गवर्मेंट इम्प्लाइज ग्रुप इंश्योरेंस स्कीम के नाम पे अधिक रकम मिलने का झांसा देकर अलग अलग नम्बरो से डायरेक्टर, मैनेजर,कर्मचारी बनकर फर्जी काल सेंटर का संचालन कर झांसा देते थे। आरोपियो द्वारा प्राइवेट कम्पनियों से अवैध तरीके से डाटा प्राप्त किया जाता था आरोपियो के द्वारा कोटक महिंद्रा बैंक,एचडीएफसी बैंक, बैंक आफ बड़ौदा, आईडीएफसी बैंक में सन्चालित खातों को फ्रिज कर पुलिस ने खातों में जमा कुल 1 लाख 56 हजार 672 रुपयों को होल्ड करवाया है।

Also Read – पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े: दिल्ली, छत्तीसगढ़, यूपी, एमपी, झारखंड सहित इन राज्यों में जानिए पेट्रोल-डीजल कितना हुआ महंगा…. ऐसे करें चेक
गिरोह द्वारा पंजाब,गुजरात,छतीसगढ़, मध्यप्रदेश के लोगो से करोड़ो की ठगी को अंजाम दिया गया था। सायबर सेल टीम द्वारा अन्य राज्यों की पुलिस से सम्पर्क कर पीड़ितों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही हैं। गिरोह का सरगना सलीम जफर 29 साल पता किलोकारी साउथ दिल्ली, भाई साजिद जफर (36) को गिरफ्तार किया गया है।

इसके अलावा 32 वर्षीय राजू यादव साउथ दिल्ली व साउथ दिल्ली के ही 30 वर्षीय रंजन कुमार यादव को भी पुलिस ने पकड़ा है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 − 8 =

Back to top button