2
1
previous arrow
next arrow
देश

ISRO साइंटिस्ट की पत्नी ने रची 25 लाख की लूट की साजिश, अपनों को ही बनाया शिकार

उत्तरप्रदेश। हरदोई में शहर कोतवाली क्षेत्र के पीतांबरगंज में इसरो के सहायक वैज्ञानिक के घर में हुई लूटपाट का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। वैज्ञानिक की पत्नी मुस्कान ने खुद घर से गहने गायब कर अपनी बहन व दोस्त को दे दिए थे। उसके बाद लूट की झूठी कहानी गढ़ी थी।

एसपी राजेश द्विवेदी ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि पितांबरगंज निवासी इसरो के सहायक वैज्ञानिक शशांक उर्फ छोटू के घर में 29 मार्च को लूट हुई थी। वैज्ञानिक की मां कांती देवी ने 29 मार्च को देर शाम पुलिस को घटना की सूचना दी थी। बताया था कि शशांक की गर्भवती पत्नी मुस्कान घर में थी। तभी तीन नकाबपोश बदमाश घर में घुसे और एक लाख रुपये और कई लाख के जेवरात लूट ले गए। पुलिस ने केस दर्ज कर घटना की जांच शुरू की। जब सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो कहीं भी कोई बदमाश आते जाते नहीं दिखाई दिए। इसके बाद स्वाट, सर्विलांस और एसओजी टीम को जांच सौंपी गई।

सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल सर्विलांस और मुखबिर के जरिए पुलिस को जूनियर साइंटिस्ट के परिवार के किसी करीबी व्यक्ति के ही इस घटना में शामिल होने के संकेत मिले। पुलिस को मुस्कान की बहन तनु और उसकी दोस्त अमिता की कुछ गतिविधियां संदिग्ध नजर आईं। पुलिस ने तनु और अमिता को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया तो दोनों ने जुर्म कबूल कर लिया। दोनों की निशानदेही पर लूट में गए सोने चांदी के जेवर और नकदी बरामद कर कर ली गई।

दोनों ने पुलिस को बताया कि मुस्कान ने अपने जेवर बहन तनु और उसके कथित पुरुष मित्र को काफी समय पहले दे दिए थे। तनु और उसका पुरुष मित्र उन जेवरों को वापस नहीं कर पाए। कुछ दिनों में मुस्कान के देवर और ननद की शादी होनी थी, जिसमें मुस्कान को अपने जेवर पहनने पड़ते, लेकिन उसके पास जेवर नहीं थे। इसलिए उसने अपनी बहन तनु और अपनी महिला दोस्त अमिता के साथ लूट का प्लान बनाया। जिसके तहत उसने अपनी सास और ननद के जेवर पहले ही अपनी महिला दोस्त अमिता को दे दिए। इसके बाद खुद को घायल करके लूट की कहानी बना डाली। फिलहाल पुलिस ने तीनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button