2
1
previous arrow
next arrow
छत्तीसगढ़रायपुर

जवाबदारी लेने से होता है नेतृत्व कला का विकास – चेतन तारवानी


सुहिणी सोच संस्था द्वारा

वृंदावन हॉल सिविल लाइन में

ऑफिसर ट्रेनिंग सेमिनार का

हुआ आयोजन

—————

हर व्यक्ति में प्रतिभा छुपी हुई है,

जरुरत है तो बस उसे निखारने की

—– चेतन तारवानी —–

—————

सेमिनार का समापन

सचिव माही बुलानी ने

धन्यवाद ज्ञापन कर किया

—————

  • रायपुर/एक्ट इंडिया न्यूज     
  • यह महत्वपूर्ण ट्रेनिंग भारतीय सिंधु सभा युवा विंग के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सुहिणी सोच के मेंटोर चेतन तारवानी के द्वारा दी गई। इस ऑफिसर ट्रेनिंग प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य था, कि सुहिणी सोच के सभी नए पदाधिकारियों को उनके कर्तव्यों के बारे में जानकारी देना एवम आने वाले वर्ष में हर क्षेत्र में कार्यक्रम की रुपरेखा तैयार करना।
जवाबदारी लेने से होता है नेतृत्व कला का विकास - चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD
  • ट्रेनर चेतन तारवानी ने बताया कि सुहिणी सोच संस्था का उद्देश्य है, सकारात्मक सोच, मेलजोल, संगठन का विकास, सिंधी भाषा व सभ्यता का विकास साथ ही नेतृत्व कला का विकास करना। इन्ही उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए व्यक्तित्व विकास पर, सामाजिक विकास व्यवसाय विकास पर ज्ञानवर्धक सेशन आयोजित किए जाते है। उन्होंने कहा स्वयं के बारे में जानना, अपनी कार्यक्षमता को पहचानना अपनी कला, अपने गुण को विकसित करना बहुत आवश्यक है, क्योंकि ” हर व्यक्ति में प्रतिभा छुपी हुई है, जरुरत है तो बस उसे निखारने की”।

जवाबदारी लेने से होता है नेतृत्व कला का विकास - चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD


ऑफिसर्स में इन 5 गुणों का होना

अति आवश्यक है – चेतन तारवानी


  • 1.समयनिष्ठा – सभी मेंबर्स समय पर पहुंचे।
  • 2.मानव व्यवहार – मेंबर को महत्व देना उनकी प्रतिभा निखारने के लिए प्रोत्साहित करना।
  • 3.सम्मप्रेषण की कला – जिस व्यक्ति को आपने काम सौंपा है, उससे फीडबैक लेना कि आपकी बात समझा है या नहीं।
  • 4.सुनने की कला – सामने वाले की बात चुपचाप सुनकर फिर बाद में अपनी सलाह देना।
  • 5.नेतृत्व कला – जिम्मेदारी लेना क्योंकि ज़िम्मेदारी लेने से ही नेतृत्व कला का विकास होने लगता है।
जवाबदारी लेने से होता है नेतृत्व कला का विकास - चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD
  • चेतन तारवानी ने  विभिन्न उदाहरणों द्वारा संस्था की जवाबदारियों एवम प्रोटोकॉल के बारे में विस्तार से समझाया। तत्पश्चात सभी क्षेत्रों के वाइस प्रेसिडेंट ने अपनी- अपनी वार्षिक योजना बनाकर प्रस्तुत की। इस ट्रेनिंग सेमिनार में विशेष रूप से अमिताभ दुबे, रवि ग्वालानी उपस्थित हुए।


अमिताभ दुबे को सी.ए. ब्रांच के चेयरमैन

रवि ग्वालानी को वाइस चेयरमैन बनने पर

संस्था द्वारा उनका सम्मान किया गया।


  • सुहिणी सोच संस्था की फाउंडर मनीषा तारवानीप्रेसिडेंट काजल लालवानी, सचिव माही बुलानी, प्रोग्राम डायरेक्टर साक्षी माखीजा, सृष्टि मिर्घानी, नवनिर्वाचित पदाधिकारीयों में अध्यक्ष विद्या गंगवानी, सचिव करिश्मा कमलानी, पल्लवी चिमनानी, नीलिमा आहूजा, जूही दरयानी, कृतिका बजाज, दीक्षा बुधवानी, आरती कोडवानी, सोनम माधवानी, आरती मयानी, शालिनी पृथ्यानी, तमन्ना जसवानी, संगीता पुरी, नेहा पंजवानी, सुमन पाहुजा, सोनिया इसरानी, एकता जसवानी उपस्थित थे। अंत में सेमिनार का समापन सचिव माही बुलानी ने धन्यवाद ज्ञापन कर किया। उक्त जानकारी प्रेस विज्ञप्ति के माचायम से सुहिणी सोच की सचिव माही बुलानी द्वारा दी गई।

जवाबदारी लेने से होता है नेतृत्व कला का विकास - चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 + 15 =

Back to top button