2
1
previous arrow
next arrow
Breaking Newsछत्तीसगढ़रायपुर

सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी भर्ती में गड़बड़ी को लेकर अजय त्रिपाठी द्वारा हाईकोर्ट में याचिका दायर

रायपुर/एन्टी करप्शन टाइम्स

  • नेशनल हेल्थ मिशन द्वारा 4 जुलाई 2022 सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी पद हेतु हेल्थ एंड वेलनेश सेंटर में छःह माह ब्रिज पाठ्यक्रम कोर्स हेतु 800 पोस्ट निकाला गया। जिसमें भर्ती प्रक्रिया में छत्तीसगढ़ प्रदेश के नर्सिंग काउन्सिल पंजीकृत युवाओं ने 17500 अभ्यार्थियों ने वर्ग अनुसार 100,200,300 शुल्क देकर परीक्षा फ़ॉर्म भरा  लेकिन NHM के द्वारा मेरिट लिस्ट बना कर 2400 अभ्यार्थियों को परीक्षा में बैठने हेतु लिस्ट जारी की गई। जिसमें सैकड़ों अभ्यार्थियों द्वारा त्रुटि पूर्ण अंक डाला गया वो भी अभ्यार्थी मिशन संचालक के द्वारा पात्र को परीक्षा में शामिल किया गया। जिससे अन्य पात्र अभ्यार्थीयो के साथ 15000 प्रदेश के अभ्यार्थी परीक्षा देने से वंचित हुए।
  • पीड़ित अभ्यार्थी सरगुज़ा ज़िला बिंदेश्वर मिर्रे का कहना है की अगर फ़ॉर्म भरने का शुल्क सब से लिया गया तो परीक्षा में बैठने का अवसर सबको दिया जाए। छग़ स्टेट हेल्थ नर्सिंग़ यूनियन द्वारा इस त्रुटि पूर्ण फ़ाइनल लिस्ट की सूचना के विरोध में मिशन संचालक को लिस्ट में जाँच कर वंचित अभ्यार्थीयो को अवसर देने हेतु ज्ञापन दिया गया। फिर भी कोई प्रतिक्रिया नही आइ। NHM के द्वारा शनिवार को अवकाश दिवस पर परीक्षा देने वाले अभ्यार्थीयो की संभाग अनुसार लिस्ट बना कर दस्तावेज परीक्षण हेतु आमंत्रित किया गया।
  • इस प्रक्रिया में लगातार भ्रष्टाचार पर छःग स्टेट हेल्थ नर्सिंग यूनियन द्वारा सभी अभ्यार्थियों को परीक्षा देने हेतु स्वास्थ्य मंत्री टी एससिंह देव को भी ज्ञापन दिया गया पर न्याय के लिहाज से आवाज़ उठायी गयी पर कोई सक्रियता नही दिखायी गई। भर्ती तत्काल लेने की बात कही वही मिशन संचालक की तानाशाही यूनियन के द्वारा पुनः 8.8.2022 को ज्ञापन दिया गया पर जनहित में कोई विचार नही किया गया एवं बीएससी नर्सिंग चार वर्षीय डिग्री कोर्स है जिसमें पूर्णांक 2800 होता है 60% में प्रथम श्रेणी उत्तीर्ण माना जाता है।
  • जीएनम तीन वर्षीय पोस्ट, बेसिक दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स है जिनका पूर्णांक 1500,1800,1600,1900 होता है जिससे इनका 70 % को प्रथम श्रेणी कहाँ माना जाता है, जिससे बीएस सी नर्सिंग डिग्रीधारी प्रथम श्रेणी में पास होने बाद भी लगातार पाँच साल से सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी सीधी भर्ती से वंचित हो रहे। अब जाकर आज यूनियन अध्यक्ष अजय कुमार त्रिपाठी द्वारा हाईकोर्ट में मामला दर्ज कर भ्रष्टाचार पर जाँच की अपील करते हुए CGHCCISNCV Case with Filing No WPS/15330/2022 and CNR CGHC010284742022, AJAY VS STATE Filed on 03-09-2022. HIGH COURT OF CHHATTISGARH  विवेक कुमार श्रीवास्तव अधिवक्ता द्वारा याचिका दायर की गई ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × one =

Back to top button