2
1
previous arrow
next arrow
छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपा

मंदिर में पति कर रहा था दूसरी शादी और पहुँच गई पहली पत्नी, फिर जमकर हुई पिटाई

जांजगीर-चांपा: छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले से एक मामला सामने आया है, जहां एक युवक को दूसरी शादी करना उस वक्त भारी पड़ गया जब, शादी की रस्मो के बीच उसकी पहली पत्नी अपने परिजनों के साथ आ पहुंची और फिर क्या था दोनों पक्षों में जमकर मारपीट शुरू हो गई। हंगामा बढ़ा तो पुलिस भी पहुंच गई। इसके बाद पत्नी ने पति व ससुराल वालों के खिलाफ दहेज प्रताड़ना की FIR दर्ज करा दी।

यह पूरा मामला शिवरीनारायण स्थित बड़े मठ मंदिर का है। यहां बलौदाबाजार निवासी सोम प्रकाश नारायण जायसवाल की शादी हो रही थी। इसी दौरान एक महिला कुछ लोगों को लेकर पहुंची और हंगामा शुरू कर दिया। आते ही महिला ने दूल्हा बने सोम प्रकाश का कॉलर पकड़ लिया। विवाद बढ़ा और फिर दोनों पक्षों में मारपीट शुरू हो गई। मंदिर परिसर में मारपीट और हंगामा होते देख सब सकते में आ गए। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंच गई। इसके बाद सभी को थाने लाया गया, जहां इस पूरे विवाद की कहानी सामने आई। दूल्हे से मारपीट करने वाली महिला बिर्रा क्षेत्र की दामिनी जायसवाल है। उसकी शादी 7 मई 2017 को सोम प्रकाश से सामाजिक रीति रिवाज के साथ हुई थी। आरोप है कि एक सप्ताह के बाद ही ससुराल वालों ने 2 लाख रुपए और बाइक को लेकर दामिनी को परेशान करना शुरू कर दिया। महीने भर बाद ही उससे मारपीट करने लगे।

फिर मायके छोड़ा तो बिना रुपए लाए आने से मना कर दिया
इस बीच 15 जुलाई 2017 को दामिनी की ITI की परीक्षा थी। इसके लिए दामिनी को ससुर लेख राम जायसवाल उसके मायके छोड़ने आए, लेकिन जाते-जाते उन्होंने हिदायत भी दी कि जब तक 2 लाख रुपए और बाइक का इंतजाम न हो जाए, वह ससुराल न आए। दामिनी की परीक्षा खत्म हो गई। वह ससुराल जाने का इंतजार करने लगी, लेकिन उसे लेने वहां से कोई नहीं आया। हालांकि रुपए और बाइक लेकर आने का संदेश जरूर आता रहा।

सामाजिक बैठक, फिर महासभा पर नतीजा सिफर रहा
दामिनी के परिजनों ने 10 जून 2018 को सामाजिक बैठक बुलाई। इसमें दामिनी के ससुराल वालों के व्यवहार पर आपत्ति दर्ज की गई। दामिनी को ससम्मान ले जाने का निर्णय हुआ, लेकिन ससुराल वाले नहीं माने। इस बीच 28 अक्टूबर 2020 को महासभा बुलाई गई, पर कोविड प्रोटोकॉल व दामिनी के परिजनों के पॉजिटिव होने के चलते वे नहीं जा सके। उन्होंने इसकी सूचना भी महासभा को दी, पर उन्होंने 28 दिसंबर को ससुराल वालों के पक्ष में निर्णय सुना दिया।

3 अप्रैल को सोम प्रकाश नारायण जायसवाल शिवरीनारायण के बड़े मठ मंदिर में कर्नोद निवासी नंदनी जायसवाल से विवाह करने पहुंच गया। इसके बाद ही पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा। दामिनी और उसके परिवार ने सोम और उसके परिवार पर मारपीट करने, दहेज के लिए प्रताड़ित करने का मामला दर्ज कराया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 + 13 =

Back to top button