छत्तीसगढ़रायपुर

जुनेजा को देर से टिकट देने के कारण मतदाताओं के बीच चर्चा गर्म

विधानसभा चुनाव 2023 : रायपुर उत्तर

पुरंदर मिश्रा व जुनेजा

हुए आमने सामने

  • रायपुर उत्तर विधानसभा का चुनाव कांग्रेस का टिकट कुलदीप जुनेजा को देर से तय होने के पीछे चर्चा गर्म हो चली है। अब कई दिनों की ऊहापोह के बाद अखिरकार कांग्रेस ने विधायक कुलदीप जुनेजा को तीसरी बार चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया है।

पुरंदर मिश्रा पहुंचे गुरुद्वारा टेका मत्था 

  • शांतिनगर 3 के राम मंदिर में भंडारे का अयोजन किया गया था और भंडारे में जुनेजा और भाजपा प्रत्याशी पुरंदर मिश्रा का आमना-सामना हुआ। उसी दौरान पुरंदर ने हल्के फुल्के अंदाज में जुनेजा के कंधे पर हाथ रखकर कहा आप मोपेड पर घुमते हैं मैं रिक्शे में घूमकर प्रचार करूंगा। मैं ठहरा सुदामा, भंडारा खिलाने में जुटे जुनेजा ने सुदामा पुरंदर को भोजन खिलाया।
  • परिसीमन के बाद से इस सीट पर पहली बार कांग्रेस प्रत्याशी ने जीत हासिल की। उस समय कुलदीप जुनेजा को ही प्रत्याशी बनाया गया था। 2013 में उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था। भाजपा के उम्मीदवार श्रीचंद सुंदरानी ने कांग्रेस विधायक को हराकर विधानसभा में एंट्री पाई थी, लेकिन 2018 में फिर जुनेजा इस सीट से चुने गए।
  • कांग्रेस ने चौथी बार फिर उन्हीं पर भरोसा किया है। लेकिन अबकी परिस्थित बदली बदली दिखाई दे रहा है जुनेजा को देखते ही उन्होंने बधाई देते हुए कहा- आपका टिकट पक्का हो गया। चलो बधाई, जीत हार तो लगी रहती है। फिर उनके बीच दशहरे को लेकर चर्चा शुरू हो गई। जुनेजा बोले मैं तो मंच पर नहीं चढूंगा, पुरंदर बोले मैं भी नीचे ही रहूंगा। उसके बाद दोनों ने एक दूसरे से पूछा किधर जा रहे हैं? पुरंदर बोले मैं तो जवाहरनगर फोकट पारा जा रहा हूं। फिर विधायक ने अपनी मोपेड उठाई और पीए को बिठाकर सबसे विदा ली।
  • भाजपा प्रत्याशी पुरंदर मिश्रा का कहना शहर में विकास ही रूक गया है। अपराध अलग बढ़ते जा रहे हैं। हम विकास के मुद्दे को लेकर चुनाव मैदान में उतरे हैं। अपराधियों पर भी पुलिस का नियंत्रण नहीं रह गया है। राह चलते लोगों के फोन लूटे जा रहे हैं। सड़क और नाली की समस्या के साथ पीने का पानी भी कई इलाकों में नहीं मिल रहा है।

2 लाख से ज्यादा मतदाता वाले उत्तर विधानसभा में जातिगत समीकरण काफी उलझा हुआ है। इसमें ब्राम्हण, गुजराती, उड़िया, सिंधी, पंजाबी और मुस्लिम के अलावा यादव, गोंड़, केंवट, निषाद, मरार, सतनामी, साहू व कुर्मी सभी जाति के वोटर हैं।

  • उत्तर विधानसभा में भले ही सभी जातियों के वोटर हैं, लेकिन ये वोटर छोटे छोटे पैच में संगठित हैं। फाफाडीह इलाके में गुजराती समाज के वोटर बड़ी संख्या में है। कटोरा तालाब, रविग्राम और तेलीबांधा के बड़े हिस्से में बड़ी संख्या में सिंधी समाज के वोटर हैं। तेलीबांधा, श्यामनगर, राजातालाब में पंजाबी वोटर हैं। राजातालाब, देवेंद्रनगर और पारसनगर, मौदहापारा और बैजनाथपारा के कुछ हिस्से में मुस्लिम वोटरों की संख्या अधिक है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *