छत्तीसगढ़क्राइम

भाजपा नेता की हत्या किसने और कैसे करायी, हुआ खुलासा

कांग्रेस नेताओं ने कराई हत्या

11 आरोपी गिरफ्तार

सात लाख में दी गई थी सुपर

  • कांकेर – कांकेर में भाजपा नेता असीम राय की हत्या का पुलिस ने खुलासा किया है। हत्याकांड में शामिल 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है । नगर पंचायत अध्यक्ष बप्पा गांगुली, पार्षद विकास पाल, जितेंद्र बैरागी ने बाजपा नेता की हत्या की सुपारी दी थी। नगर पंचायत में अविश्वास प्रस्ताव हत्या का कारण का कारण बताया जा रहा है।  2014 में असीम राय पर गोली चलाने वाला युवक भी हत्या में शामिल है।
  • प्रेसवार्ता के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने थाने के बाहर जमकर  हंगामा किया और दोषियों को फांसी देने की मांग की। वहीं पुलिस ने बताया कि मामले अभी और भी आरोपियों की गिरफ्तारी हो सकती है। सात लाख में दी गई थी असीम राय की हत्या की सुपारी।
  • कांकेर पुलिस ने पखांजुर में हुई भाजपा नेता के हत्याकांड का खुलासा किया है। हाईप्रोफाइल मर्डर केस होने के कारण मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी का गठन किया गया था। एसआईटी द्वारा आरोपियों की पहचान करने पूरे पखांजूर शहर का सीसीटीवी कैमरा खंगला गया। इस दौरान पल्सर बाइक में दो आरोपियों ने असीम राय का उनके कॉप्लेक्स से घर जाने के दौरान पीछा किया और बाइक चलाते हुये पीछे बैठे आरोपी ने मृतक को पिस्टल से शूट कर दिया और बाईक में पीछे बैठकर पिस्टल चलाने वाले आरोपी की पहचान विकास तालुकदार के रुप में की गई है।
  • पुलिस ने जांच के दौरान पाया कि विकास तालुकदार को अक्सर पीव्ही 125 निवासी नीलरतन मंडल के साथ घुमते फिरते देखा गया है। नीलरतन मंडल को हिरासत में लेकर कडाई से पूछताछ करने पर उसने बीजेपी नेता असीम राय की हत्या के पूरे षड़यंत्र का खुलासा किया और बताया कि पखांजूर निवासी मंडल मेडिकल के प्रोपराईटर सोमेन्द्र मंडल, पीव्ही 28 निवासी सर्वजीत उर्फ सुरजीत एवं पीव्ही 36 निवासी रीपन तीनों ने उससे मुलाकात कर बोला कि पखांजूर के कांग्रेस नेता बप्पा गांगुली, विकास पाल और पीव्ही 28 निवासी जितेन्द्र बैरागी तीनों मिलकर भाजपा नेता असीम राय की हत्या करवाना चाहते हैं।
  • नीलरतन ने असीम राय की हत्या के लिये अपने मौसेरे भाई शार्प शूटर विकास तालुकदार और जयंत विश्वास की मुलाकात सोमेन्द्र से करवायी और असीम राय की हत्या के लिये नीलरतन मंडल, विकास तालुकदार एवं जयंत विश्वास ने सात लाख रुपये में स्व. असीम राय की हत्या करने का ठेका लिया गया। सोमेन्द्र मंडल को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर असीम राय की हत्या के षड़यंत्र में शामिल होना कुबूल किया और बताया कि 03 दिसंबर 2024 को सत्ता परिवर्तन के बाद कांग्रेस नेता एवं नगर पंचायत अध्यक्ष बप्पा गांगुली के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। उनकी कुर्सी खतरे में थी इसी प्रकार विकास पाल पार्षद को इस बात का डर था कि उसका पखांजूर इन होटल का अवैध निर्माण भी तोडा जायेगा दोनों ही इस बात के लिये असीम राय को ही जिम्मेदार मानते थे।
  • पीव्ही 28 निवासी जितेन्द्र बैरागी की भी असीम राय के साथ पुरानी रंजिश थी। जिसके कारण बप्पा गांगुली, विकास पाल और जितेन्द्र बैरागी ने एक राय होकर सोमेन्द्र मंडल को असीम राय की हत्या करवाने की जिम्मेदारी दी। हत्या के लिये पैसे की व्यवस्था बप्पा गांगुली एवं विकास पाल ने किया एवं जितेन्द्र वैरागी को मृतक की रेकी करने की जिम्मेदारी दी गयी।
  • जितेन्द्र बैरागी ने अपने साथी पीव्ही 36 निवासी तपन मंडल एवं समीत मांझी के साथ मिलकर मृतक की गतिविधियों की रेकी किया। बप्पा गांगुली एवं विकास पाल ने सोमेन्द्र मंडल के माध्यम से 07 लाख रुपये नीलरतन को भेजा जिसमें उक्त रकम में से करीब 01 लाख रुपये में पिस्टल खरीदा। इसके बाद विकास तालुकदार ने अपने साथी गोपीदास के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया।
  • मृतक की हत्या करते समय गोपीदास बाइक चला रहा था एवं शूटर विकास तालुकदार ने बाइक में पीछे बैठकर पिस्टल से मृतक को शूट किया। मृतक की हत्या में शामिल पल्सर बाइक चलाने वाले आरोपी पीव्ही 121 निवासी गोपीदास को उसके घर में दबिश देकर हिरासत में लिया गया एवं उसके कब्जे से हत्या में इस्तेमाल काले रंग की बिना नंबर वाली पल्सर बाईक, तीन लाख रुपये, एक राउंड, हत्या के समय पहने हुये हुडी जैकेट एवं अन्य कपड़े बरामद किये गये, उसने विकास तालुकदार के साथ मिलकर मृतक की हत्या करना कबुल किया। आरोपी नीलरतन मंडल के कब्जे से 50, 000 रुपये बरामद किया गया। वहीं आरोपी विकास तालुकदार घटना दिनांक से ही फरार है जिसकी संभावित लोकेशन पर पता तलाश की जा रही है।au से साभार

ये आरोपी हुए गिरफ्तार

  • बप्पा गांगुली, विकास पाल, सोमेन्द्र मंडल, नीलरतन मंडल, रीपन सदियाल, सुरजीत बाला, समीत मांझी, तपन मंडल, जितेन्द्र बैरागी, जयंत विश्वास

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *